भारत मे मुख्य ब्रोकिंग कंपनिया

तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है?

तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है?

नियर प्रोटोकॉल मंदी की स्थिति में काम करता है, लेकिन यहां व्यापारियों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है

NEAR Protocol toils in bearish conditions, but here's why traders needn't worry

Bitcoin सांडों ने $16.2k के समर्थन स्तर पर बने रहने के लिए बहादुरी से संघर्ष किया है। फिर भी, लंबी अवधि की प्रवृत्ति मंदी थी। बाजार में डर स्पष्ट था, और बड़े समय-क्षितिज खरीदार खरीदने से पहले प्रवृत्ति में बदलाव की प्रतीक्षा कर सकते हैं। हालांकि, कम समय सीमा के व्यापारियों को भुनाने के लिए अस्थिरता अभी भी मौजूद थी।

निकट प्रोटोकॉल कई altcoins में से एक था जो हाल के महीनों में डाउनट्रेंड में रहा है। रिकवरी अभी तक नजर नहीं आ रही थी, हालांकि $2.4 के पिछले कदम से निवेशकों में कुछ विश्वास पैदा हो सकता है।

बेयरिश ऑर्डर ब्लॉक NEAR और बुल रन के रास्ते में खड़ा है

स्रोत: ट्रेडिंग व्यू पर NEAR/USDT

दैनिक चार्ट पर, यह देखा जा सकता है कि अगस्त के मध्य से कीमत तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? में तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? गिरावट आ रही है। उस समय, कीमतें उच्च चढ़ावों की एक श्रृंखला के नीचे उतरीं, जो NEAR ने ऊपर की ओर पंजीकृत कीं। इन स्तरों को तोड़ने से उच्च समय सीमा पूर्वाग्रह मंदी की स्थिति में आ गया। 20 अगस्त के बाद से, NEAR ने अपने मूल्य के 53% के करीब गिरा दिया है।

लेखन के समय, लाल बॉक्स द्वारा हाइलाइट किए गए $2-$2.4 क्षेत्र में एक बियरिश ऑर्डर ब्लॉक देखा गया था। खरीदारों के लिए चिंता का एक अन्य कारक पिछले सप्ताह में उच्च मात्रा में ट्रेडिंग वॉल्यूम था, जब NEAR $3.3 के करीब से तेजी से गिर गया था।

आरएसआई सितंबर के मध्य से तटस्थ 50 से नीचे रहा है, और नवंबर की शुरुआत में तेजी के क्षेत्र में इसका संक्षिप्त प्रवेश तेजी से विफल हो गया था। आरएसआई के साथ-साथ, ओबीवी भी चार्ट के निचले हिस्से में डूब गया है और एक और निचले स्तर पर बना हुआ है।

इसलिए, भारी बिकवाली के दबाव और एक मंदी की उच्च समय सीमा बाजार संरचना के साथ, लंबी अवधि के बैल के लिए आशा का मनोरंजन करना मुश्किल था। दक्षिण में $1.8, $1.56, और $1.4 पर समर्थन के महत्वपूर्ण स्तर हैं जहां खरीदार खरीदारी के अवसर के लिए कम समय सीमा चार्ट स्कैन कर सकते हैं।

जब तक $2.4 क्षेत्र को तोड़ा नहीं गया और $2 को समर्थन के रूप में पुन: परीक्षण नहीं किया गया, उच्च समय सीमा पर NEAR के लिए दृष्टिकोण मंदी का रहेगा।

ओपन इंटरेस्ट में लगातार गिरावट आई है, जबकि फंडिंग दरें हाल ही में सकारात्मक दायरे में आ गई हैं

NEAR प्रोटोकॉल मंदी की स्थिति में काम करता है, खरीदारों को एक अवसर की प्रतीक्षा करनी होगी

नवंबर में, वायदा बाजार में एनईएआर प्रोटोकॉल के पीछे ओपन इंटरेस्ट में लगातार गिरावट आई। यह एक प्रवृत्ति थी जो पूरे बाजार में कई altcoins के लिए देखी गई थी। अनुमान यह था कि शॉर्ट पोजीशन नीचे के रास्ते में मजबूती नहीं बना रहे थे। 10 नवंबर के बाद से OI सपाट रहा है। इसने सुझाव दिया कि एक मजबूत कम समय-सीमा की प्रवृत्ति अभी तक दृष्टिगोचर नहीं हुई थी।

12 नवंबर के बाद से, अल्पकालिक मूल्य चार्ट ने दिखाया कि NEAR में थोड़ी अस्थिरता थी क्योंकि यह अधिकांश भाग के लिए $1.89 और $1.99 के बीच दोलन करता था। ओपन इंटरेस्ट में उछाल के साथ-साथ $2.05 से ऊपर की रैली देखने लायक हो सकती है।

NEAR प्रोटोकॉल मंदी की स्थिति में काम करता है, खरीदारों को एक अवसर की प्रतीक्षा करनी होगी

इस बीच, फंडिंग दर 10 नवंबर को अत्यधिक नकारात्मक से 11 नवंबर को कुछ हद तक सकारात्मक हो गई। इस प्रवृत्ति ने धीरे-धीरे दिनों में और अधिक एक्सचेंजों पर जोर दिया।

इसका तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? मतलब यह था कि वायदा बाजार सहभागियों की स्थिति तेजी से बढ़ रही थी। क्या यह आसन्न तेजी का संकेत था, या बाजार को फिर से अत्यधिक दर्द का सामना करना पड़ेगा?

अदरक में हैं कमाल के औषधीय गुण

अदरक का बॉयो-एक्टिव कम्पाउंड जिन्जेरॉल, ब्रेन फंक्शन इम्प्रूव करता है, विशेषरूप से मिडिल एज़ महिलाओं के सम्बन्ध में। यह एजिंग प्रोसेस बढ़ाने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और क्रोनिक इन्फ्लेमेशन को कम करके एल्जाइमर से बचाव के साथ उम्र बढ़ने से हो रहे ब्रेन डैमेज प्रोसेस को धीमा करता है। यदि संक्रमण की बात करें तो अदरक, बैक्टीरिया और वायरस दोनों तरह के इंफेक्शन से बचाता है।

मशहूर कहावत, बंदर क्या जाने तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? अदरक का स्वाद, आपने जरूर सुनी होगी। बंदर, अदरक के बारे में कितना जानते हैं, नहीं पता। लेकिन हम इंसानों ने इसके उन स्वादों की खोज भी कर ली है जो जीभ के लिये नहीं बल्कि सेहत के लिये बने हैं। देश और दुनिया के प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संस्थानों ने रिसर्च के बाद अदरक के इन गुणों को मान्यता दी है और माना है कि अदरक सच में औषधि है।

सेहत से बढ़कर कुछ नहीं, प्राकृतिक तौर-तरीकों से सब सेहतमंद रहें, यही सोचकर सदियों पहले हमारे पूर्वजों में औषधीय गुण वाले पेड़-पौधों को आहार में जोड़ा गया और संस्कृति का हिस्सा बनाया। इसी परम्परा का अनुसरण करके हमने बनायी अदरक वाली चाय। क्योंकि चाय का चलन अभी हाल में 1850 के आसपास ही शुरू हुआ है। आज शायद ही कोई ऐसा हो जिसने सर्दी में अदरक वाली चाय न पी हो।

कई तरह से इस्तेमाल

पूरी दुनिया में अदरक, खाने की रेसिपीज़ का सबसे कॉमन इन्ग्रीडियेंट है। इसे अलग-अलग तरह से इस्तेमाल किया जाता है। कहीं फ्रेश, कहीं सुखाकर तो कहीं पाउडर बनाकर। इसके तेल का इस्तेमाल दवाओं और कॉस्मेटिक्स में होता है। मूलरूप से यह फूलवाला पौधा तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? है जो हल्दी, मोटी इलायची और गलन्गल की फैमिली से आता है। हमारे लिये सबसे उपयोगी है इसकी जड़ यानी जिन्जर रूट। आपको ये जानकर खुशी होगी कि इसका उत्पत्ति स्थल हमारी धरती यानी जम्बूद्वीप ही है। आर्युवेद में इसे पृथ्वी पर उगने वाली सबसे स्वास्थ्यवर्धक और स्वादिष्ट वनस्पतियों में से एक माना गया है।

इतना स्वास्थ्यवर्धक कैसे?

अब सवाल ये कि अदरक इतना स्वास्थ्यवर्धक कैसे? तो जबाब है जिन्जेरॉल की वजह से। जो इसका मेन बॉयो-एक्टिव कम्पाउंड है। अदरक का स्वाद, मेडीसनल प्रॉपर्टीज, खुशबू सब इसी से, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इन्फलामेटरी तथा एंटी-डॉयबिटीज गुणों का स्रोत भी यही। इसके कारण ही सदियों से इसे इनडाइजेशन, नौजिया और सर्दी-खांसी-जुकाम के इलाज में प्रयोग किया जा रहा है। आर्युवेद के मुताबिक अदरक के आधा चम्मच रस को शहद की समान मात्रा में हल्दी के साथ मिलाकर गरम करके चाटा जाये तो खांसी-सर्दी-जुकाम में आराम मिलता है। ध्यान रहे, इसे चाटने के 30 मिनट बाद तक पानी नहीं पीना।

इन बीमारियों में बहुत इफेक्टिव

अदरक, नौजिया यानी जी मिचलाने की कारगर दवा है, विशेषरूप से मॉर्निंग सिकनेस की। वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि सुबह-सुबह 1 से 1।5 ग्राम अदरक तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? के सेवन से प्रेगनेन्सी, सर्जरी और कीमोथेरेपी से होने वाले नौजिया में आराम मिलता है। यह वोमटिंग रोकता है लेकिन प्रेगनेन्सी में इसका सेवन अत्यन्त अल्प मात्रा में डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिये।

अदरक, हमारी हड्डियों के लिये बहुत फायदेमंद है, शोध से पता चला यह हड्डियों में ऑस्टियो ऑर्थराइटिस से होने वाली क्षति रोकता है। वैज्ञानिकों ने बताया कि अदरक, गोंद, दालचीनी और सीसमी ऑयल के कॉम्बीनेशन से घुटनों के दर्द और अकड़न में कमी आती है।

देखा, टेड़े-मेड़े अदरक में कितने गुण, लेकिन ये तो शुरूआत है। रिसर्च से सामने आया कि अदरक की एंटी-डॉयबिटीज प्रॉपर्टीज ब्लड शुगर कम करने के साथ हार्ट के लिये भी फायदेमंद हैं। टाइप-2 डॉयबिटीज के मरीज यदि 12 सप्ताह रोजाना खाने में इसकी मात्रा बढ़ा दें तो उनका औसत शुगर लेवल जिसे A1C कहते हैं घटेगा और ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ जायेगी। इससे शुगर तो कंट्रोल होगी ही साथ में हार्ट भी हेल्दी रहेगा।

क्रोनिक इन्डॉयजेशन पर अदरक का असर जानने के लिये इस पर तीन अलग-अलग शोध हुए तो पता चला कि पाचन से जुड़ी समस्याओं, डिस्कम्फर्ट और क्रोनिक कब्ज दूर करने में ये किसी भी दूसरी दवा से कम नहीं। यह पुरानी से पुरानी पाचन समस्या को आसानी से ठीक कर देती है।

उन महिलाओं के लिये तो अदरक वरदान है जो हर महीने पेनफुल पीरियड झेलती हैं। वैज्ञानिकों ने ऐसी 150 महिलाओं पर क्लीनिकल ट्रॉयल करते हुए उन्हें पीरियड के पहले तीन दिन 250 मिलीग्राम अदरक पाउडर दिया तो पाया कि यह मेन्सुरल पेन दूर करने में दूसरी पेन रिलीवर दवाओं जितना ही असरदार है।

अब अदरक की एक और खूबी। यह टोटल कोलोस्ट्रॉल, LDL और ट्राइग्लिसराइड्स कम करता है। एक स्टडी में सामने आया कि तीन महीने रोजाना तीन ग्राम अदरक पाउडर लेने से इन तीनों में 10 से लेकर 17।5 प्रतिशत तक कमी आयी। इसलिये बिना देर किये अपने खाने में इसकी मात्रा बढ़ायें या रोजाना तीन ग्राम सोंठ पाउडर का सेवन करें।

कैंसर की रोकथाम में अदरक का असर जानने के लिये वैज्ञानिकों ने कुछ लोगों को एक क्लीनिकल ट्रॉयल के तहत 28 दिनों तक रोजाना 2 ग्राम अदरक एक्सट्रैक्ट दिया तो पाया कि इससे कोलोरेक्टल और गैस्ट्रोइन्टसटाइनल कैंसर का रिस्क कम हुआ, विशेषरूप से पेनक्रियाज और लीवर कैंसर का। एक अन्य रिसर्च में इसे ब्रेस्ट और ओवेरियन कैंसर रोकने में भी असरदार पाया गया।

अदरक का बॉयो-एक्टिव कम्पाउंड जिन्जेरॉल, ब्रेन फंक्शन इम्प्रूव करता है, विशेषरूप से मिडिल एज़ महिलाओं के सम्बन्ध में। यह एजिंग प्रोसेस बढ़ाने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और क्रोनिक इन्फ्लेमेशन को कम करके एल्जाइमर से बचाव के साथ उम्र बढ़ने से हो रहे ब्रेन डैमेज प्रोसेस को धीमा करता है।

अगर संक्रमण की बात करें तो अदरक, बैक्टीरिया और वायरस दोनों तरह के इंफेक्शन से बचाता है। ओरल बैक्टीरिया और रेसिपीरेटरी इंफेक्शन बढ़ाने वाले वायरस के खिलाफ ये बहुत प्रभावी है। 2008 में हुयी एक रिसर्च से पता चला कि ओरल बैक्टीरिया के खिलाफ प्रभावी होने की वजह से इसका नियमित सेवन, मसूड़ों को अनेक बीमारियों से बचाता है। और रही रेसिपीरेटरी इंफेक्शन की बात तो सर्दी-खांसी-जुकाम से बचने के लिये तो इसे सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है।

वैज्ञानिकों ने अदरक को, वजन कम करने के साथ BMI सुधारने में प्रभावी माना है। 2016 में हुयी एक रिसर्च के मुताबिक यह मोटापे से रिलेटेड हाई ब्लड इंसुलिन लेवल कम करके बीएमआई यानी बॉडी-मॉस-इंडेक्स ठीक रखता है। 2019 में हुयी एक रिसर्च से पता चला कि अदरक के सप्लीमेंट्स लेने से बॉडी वेट में कमी के साथ वेस्ट-हिप रेशियो ठीक रहता है। अदरक से वजन कम और सुडौल शरीर, वाह क्या बात है।

तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है?

कोरोना अपडेट: 24 घंटों में 635 नए मामले आए सामने, 7,175 पर पहुंचा सक्रिय मामलों का आंकड़ा

पिछले 24 घंटों में 635 नए मरीज सामने आए हैं, जिसके बाद सक्रिय मामलों का आंकड़ा 7,175 पर पहुंच गया है

उत्तराखंड: मांओं और नवजात शिशुओं की मौत के मामलों की जांच जरूरी

उत्तराखंड में वर्ष 2016-17 से 2020-21 के बीच कुल 798 महिलाओं ने प्रसव के दौरान या प्रसव से जुड़ी मुश्किलों के चलते दम तोड़ .

क्या कोरोना के दौरान देश में 19.2 लाख बच्चे हुए थे अनाथ, सरकार ने लैंसेट रिपोर्ट पर उठाए सवाल

भारत सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना महामारी के दौरान देश में कुल 153,335 बच्चों ने अपने माता-पिता या अभिभावक में से एक .

विश्व श्रवण दिवस विशेष: श्रवण क्षमता पर मंडराते खतरे से निपटने के लिए डब्ल्यूएचओ ने जारी किए नए मानक

डब्ल्यूएचओ का अनुमान है कि 2050 तक करीब 250 करोड़ लोगों की कुछ हद तक सुनने की क्षमता प्रभावित हो सकती है। वहीं इनमें .

मेडिकल की पढ़ाई के लिए विदेशों में क्यों जाते हैं भारतीय छात्र?

भारत के मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश को लेकर काफी प्रतिस्पर्धा है और यहां ट्यूशन फीस भी काफी अधिक है

कोरोनावायरस से कैसे करता है हमारा इम्यून सिस्टम मुकाबला, वैज्ञानिकों ने खोजा रहस्य

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कोरोनोवायरस के खिलाफ भी उसी तरह काम करती है जिस तरह वो आमतौर पर फ्लू से लड़ती है। मतलब, इस वायरस से निपटना मुश्किल तो है पर नामुमकिन नहीं है

कोरोनावायरस: वैश्विक महामारी कितनी भारी, कितनी तैयारी

क्या दुनिया कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी से निपटने में सक्षम है?

22 दिन तक रहता है कोरोनावायरस संक्रमण का खतरा: रिसर्च

द लैंसेट जर्नल में प्रकाशित नए अध्ययन में 191 मरीजों के आंकड़ों के विश्लेषण से इस वायरस के बारे में कई नई बातों का पता .

सीएसई लैब रिपोर्ट: आपकी सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं कंपनियां और रेगुलेटर

#Everybitekills सरकारी रेगुलेटर एफएसएसएआई की लेटलतीफी और कमजोर प्रयासों ने पैकेटबंद और फास्ट फूड के नियमन को बेपटरी कर दिया है। क्या अब आपातकालीन .

सीएसई लैब रिपोर्ट: पिज्जा, सैंडविच और रैप में क्या खा रहे हैं आप?

#Everybitekills पिज्जा सैंडविच और रैप पिज्जा को मील के विकल्प में स्वस्थ खाद्य आहार के तौर पर माना जाता है, लेकिन सीएसई लैब ने .

विश्व मधुमेह दिवस: 1980 के बाद से दुनिया भर में लगभग दोगुना हो गया है मधुमेह का प्रसार

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया भर में लगभग 42.2 करोड़ लोगों को मधुमेह है, जिनमें से अधिकांश निम्न और मध्यम आय वाले देशों में रहते हैं

म्युटेशन के कारण कहीं ज्यादा ‘स्मार्ट’ हो रहा है मंकीपॉक्स

रिसर्च से पता चला है कि म्युटेशन के जरिए मंकीपॉक्स कहीं ज्यादा ‘स्मार्ट’ हो रहा है, जिसकी मदद से वो दवाओं और इम्यून सिस्टम से बचने के भी काबिल बन रहा है

पार्किंसंस और अल्जाइमर की तरह ही मस्तिष्क में सूजन पैदा कर सकता है कोविड-19

वैज्ञानिकों को एक नए अध्ययन से पता चला है कि कोविड-19, पार्किंसंस और अल्जाइमर जैसे रोगों की तरह ही मस्तिष्क में सूजन पैदा कर सकता है, जोकि एक तरह का साइलेंट किलर है

माहवारी से जुड़ी संकुचित सोच बदलने की जरूरत

कहने को तो माहवारी प्रकृति की देन है, परन्तु लोगो ने इसे परंपरा से ऐसा बांधा है कि यह गांठ खुलने का नाम ही नही ले रही है

डाउन टू अर्थ खास: कितने जरूरी हैं मानव दूध बैंक?

मानव दूध बैंक उन शिशुओं के लिए महत्वपूर्ण हैं, जिन्हें मां का दूध नहीं मिल पाता है। भारत में अब भी ऐसे केंद्रों का बड़े पैमाने पर शुरू होना बाकी है

पैदाइशी हृदय रोग का कारण बन सकता है कैडमियम का संपर्क

जन्मजात हृदय रोग एक ऐसा रोग है जिसमें जन्म के समय से ही हृदय की संरचना में विकार होता है। भारत में हर साल जन्म लेने वाले 2 लाख बच्चे इस रोग से ग्रसित होते हैं

बढ़ते तापमान के साथ बढ़ रहा है फंगल डिजीज का खतरा, केवल चार प्रकार की एंटिफंगल दवाएं हैं उपलब्ध

एंटी-फंगल रेसिस्टेन्स यानी फफूंद-रोधी प्रतिरोध से निपटने के लिये विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 19 खतरनाक फफूंदों की पहली सूची तैयार की है जोकि इंसानी स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा हैं

हमारी पीढ़ी को बर्बाद कर रहा है आलस, वयस्क के साथ-साथ बच्चे भी बन रहे शिकार

आज 80 फीसदी से ज्यादा किशोर और 27.5 फीसद वयस्क जरुरत के मुताबिक शारीरिक गतिविधियां नहीं करते हैं, जो उन्हें धीरे-धीरे बीमार बना रहा है

DownToEarth

Down To Earth is a product of our commitment to make changes in the way we manage our तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? environment, protect health and secure livelihoods and economic security for all. We believe strongly that we can and must do things differently. Our aim is to bring you news, perspectives and knowledge to prepare you to change the world. We believe information is a powerful driver for the new tomorrow.

Quick Links
Quick Links
Hindi

DownToEarth

Down To Earth is a product of our commitment to make changes in the way we manage our environment, protect health and secure livelihoods and economic security for all. We believe strongly that we can and must do things differently. Our aim is to bring you news, perspectives and knowledge to prepare you to change the world. We believe information is a powerful driver for the new tomorrow.

लव हैंडल से छुटकारा पाने के 6 आसान तरीके

लव हैंडल पेट और कूल्हे क्षेत्र के आसपास वसा के अतिरिक्त संचय को संदर्भित करता है। हालांकि वे आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक नहीं हो सकते हैं, लव हैंडल पुरानी बीमारियों जैसे स्लीप एपनिया, उच्च रक्तचाप, बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल, टाइप 2 मधुमेह, और बहुत कुछ में योगदान कर सकते हैं।

कुछ सरल व्यायाम हैं जिन्हें आप अपनी दैनिक तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं ताकि आप अपने शरीर से वसा से छुटकारा पा सकें और साथ ही अपनी मुख्य मांसपेशियों को भी जोड़ सकें। वे हृदय गति को बढ़ाकर बड़ी संख्या में कैलोरी जलाने में तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? भी मदद करेंगे। यहां छह सरल तरीके दिए गए हैं जो आपको प्रेम संबंधों से छुटकारा पाने में मदद करेंगे:

कौन सी एक्सरसाइज लव हैंडल को अलग करती है?

1. लेग स्विंग्स

यहाँ यह कैसे करना है:

  • अपनी पीठ के फ्लैट के साथ फर्श पर एक विस्तार की स्थिति में शुरू करें, हथेलियाँ फर्श पर सपाट हों, और दोनों भुजाएँ भुजाओं तक फैली हुई हों।
  • अपने घुटनों को मोड़कर और अपने पैरों को ऊपर उठाकर अपने पैरों को फर्श के समानांतर रखें।
  • आपकी जांघों को आपके शरीर के अंदर 90 डिग्री का कोण बनाना चाहिए।
  • इसके बाद, अपने पैरों को फर्श के बाईं ओर ले आएं ताकि आपकी बाहरी बाईं जांघ फर्श को छू रही हो।
  • प्रारंभिक स्थिति पर लौटें और दूसरी तरफ दोहराएं।

2. ग्लूट ब्रिज

यहाँ यह कैसे करना है:

  • अपने घुटनों के बल फर्श पर लेटने की स्थिति में शुरू करें और अपने पैरों को अपने बट के करीब रखें।
  • अपनी पीठ के निचले हिस्से और कूल्हों को फर्श से उठाकर अपने कंधों और घुटनों के बीच एक सीधी रेखा बनाएं।
  • ग्लूटल मसल्स को एक साथ रखें। संपादित करें और दोहराएं।

3. रूसी मोड़

यहाँ यह कैसे करना है:

  • अपने पैरों को फर्श पर दबाकर और अपने घुटनों को मोड़कर अपनी जांघों पर बैठने की स्थिति में शुरू करें।
  • अपने एब्स को टाइट रखते हुए, अपने ऊपरी शरीर को लगभग 45 डिग्री के कोण पर थोड़ा पीछे झुकाएं।
  • अपनी हथेलियों को अपने पेट के सामने एक साथ लाएं।
  • आप अपने हाथों की हथेलियों में वजन भी पकड़ सकते हैं।
  • बैठी हुई अपनी नंगी हड्डियों को संतुलित करें और अपने पैरों को घुटनों के बल झुककर ऊपर उठाएं।
  • इसके बाद, धीरे से अपने ऊपरी शरीर को बाईं ओर मोड़ें और अपने हाथों को शरीर के बाईं ओर ले आएं। पक्ष स्विच करें और दोहराएं।

4. साइड पैनल

यहाँ यह कैसे करना है:

  • अपनी बाईं ओर लेटें और अपनी बाईं कोहनी पर झुकें, अपने पैरों को एक साथ रखें और अपने पैरों को फैलाएं।
  • अपने कोर को अंदर रखते हुए, अपने आप को वापस फर्श पर लाने से पहले अपने शरीर को कुछ क्षणों के लिए एक सीधी रेखा में फर्श से ऊपर उठाएं।
  • पक्ष स्विच करें और दोहराएं।
  • व्यायाम की तीव्रता बढ़ाने के लिए, अपने ऊपरी पैर को ऊपर उठाएं और पकड़ें ताकि यह आपके निचले पैर के ऊपर न हो।

5. साइकिल क्रंचेज

यहाँ यह कैसे करना है:

  • फर्श या चटाई पर घुटनों के बल लेट जाएं और अपने हाथों को अपने सिर के पीछे धीरे से रखें।
  • अपने सिर और कंधों को फर्श से ऊपर उठाते हुए अपने पेट की मांसपेशियों को संलग्न करें।
  • उसी समय, अपने घुटनों को मोड़कर, अपने पैरों को एक साथ फर्श से ऊपर उठाएं ताकि आपके पिंडली फर्श के समानांतर हों।
  • इसके बाद, अपनी दाहिनी कोहनी को अपने बाएं घुटने पर लाने के लिए अपने शरीर को धीरे से मोड़ें।
  • इसी समय, अपने दाहिने पैर को फर्श से ऊपर ले जाकर अपने सामने सीधा करें।
  • अपने शरीर को शुरुआती स्थिति में लाएं और दूसरी तरफ दोहराएं।

READ 'सॉफ्ट' CRISPR तकनीक का उपयोग करने वाली एक नई विधि आनुवंशिक रोगों की एक नई मरम्मत प्रदान कर सकती है

6. पर्वतारोही

यहाँ यह कैसे करना है:

  • फर्श पर अपने चेहरे के साथ फर्श पर एक पारंपरिक उठी हुई तख़्त स्थिति में शुरू करें, पैर की उंगलियां फर्श पर मुड़ी हुई हों, हाथ सीधे आपके कंधों के नीचे और बाहें पूरी तरह से विस्तारित हों।
  • एक पैर को फर्श से उठाएं और अपने घुटने को अपनी छाती की ओर धकेलें।
  • पक्ष स्विच करें और दोहराएं।

क्या लव हैंडल बहुत दूर जा सकते हैं?

हां, जब आप प्रभावी व्यायाम के साथ उचित आहार का पालन करते हैं तो प्यार के बंधन अंततः पिघलना शुरू हो जाते हैं। आपको उन अभ्यासों को शामिल करने की आवश्यकता है जो मदद करते हैं आपके शरीर से वसा खोना फिर अपने पेट के आसपास की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए व्यायाम जोड़ें।

लव हैंडल का मुख्य कारण क्या है?

लव हैंडल के मुख्य कारणों में से एक वसा प्रतिधारण है। आपके शरीर में वसा कोशिकाएं या तो शारीरिक गतिविधि की कमी या उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से जमा होने लगती हैं, जो बाद में पेट और कमर जैसी जगहों पर दिखाई देती हैं।

प्यार के पीछे अन्य कारण हैं बुढ़ापा, खराब नींद, व्यायाम की कमी, चीनी और वसा से भरपूर आहार, शरीर में कोर्टिसोल की उच्च मात्रा और कोई भी अनियंत्रित स्थिति।

लव हैंडल को खोने में कितना समय लगता है?

यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि प्यार तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? के हैंडल खोना आपके शरीर से इसमें कुछ समय लग सकता है। अपने संपूर्ण शरीर में वसा प्रतिशत को कम करने के लिए अपने व्यायाम आहार और आहार दिनचर्या से चिपके रहने पर ध्यान दें। अंत में, आप आवश्यक लाभ प्राप्त करना सुनिश्चित करेंगे!

तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है?

You are currently viewing Technical Analysis of Stocks | Technical Analysis by SIDDHARTH BHANUSHALI in Hindi

Technical Analysis of Stocks | Technical Analysis by SIDDHARTH BHANUSHALI in Hindi

  • Post author: admin
  • Post published: October 16, 2021
  • Post category: Stock Market
  • Post comments: 0 Comments

सभी ट्रेडर किसी भी मार्किट में इन्वेस्ट या ट्रेड करने के लिए Technical analysis का प्रयोग करते है ताकि वो स्टॉक प्राइस का पता कर सके की अब वो किस दिशा में जाने वाली तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? है।

बेसिकली technical analysis of stocks हर निवेशक स्टॉक का विश्लेषण करने का सबसे अच्छा तरीका है ताकि वे शेयर बाजार की गतिविधियों को जान सकें और स्टॉक की कीमत का अनुमान (Prediction)लगा सकें।

यह Technical analysis Siddharth Bhanushali Sir के द्वारा प्रदत है।

Technical analysis Basics | By Siddharth Bhanushali

Table of Contents

तकनीकी विश्लेषण क्या है? What is Technical Analysis?

Technical Analysis एक तरीका है जो व्यापारियों द्वारा किसी स्टॉक की पास्ट के प्राइस गतिविधि का विश्लेषण करके स्टॉक की भविष्य की कीमत दिशा की भविष्यवाणी करने के लिए उपयोग किया जाता है। तकनीकी विश्लेषकों द्वारा चार्ट पैटर्न और आंकड़ों का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

दूसरे शब्दों में

तकनीकी विश्लेषण को पिछले मूल्य की गति की जांच के आधार पर भविष्य की कीमत की भविष्यवाणी करने की कला और विज्ञान के रूप में परिभाषित किया जा सकता है।

1 Art & Science

2 To Predict The Future तकनीकी विश्लेषण कैसे काम करता है? Price Movement

3 To know Future by Examining Past

तकनीकी विश्लेषण मूल रूप से कला और विज्ञान का मिश्रण है। जिसमें कला और विज्ञान के महत्वपूर्ण विषेशता शामिल हैं जो बाजार को एक शैक्षिक दृष्टिकोण प्रदान करते हैं।
तकनीकी विश्लेषण का यह मिश्रण आपको वास्तविक समझ देगा कि बाजार कैसे व्यवहार करता है।
बाजार की संभावना क्या है और साथ ही तकनीकी विश्लेषण के इस मिश्रण का उपयोग बाजार की स्थितियों में सांख्यिकीय रूप से मान्य पैटर्न को पकड़ कर और उसके पास्ट के प्राइस मूवमेंट की जाँच करके, उसके प्राइस की दिशा को प्रिडिक्ट किया जा सकता है की प्राइस किस दिशा में जा सकता है।

किसी भी स्टॉक और उसके झुकाव (trend) का पता करने के लिए टेक्निकल एनालिसिस में हमे चार्ट पर price और volume को डालना (put) होता है। बाकि सब price और volume से लिया जाता है।ये दोनों ही हमे raw form में मिलते है।

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 82
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *